Tuesday, November 22, 2022
HomeStatesरणथम्भौर में तत्काल बुकिंग करने वालों अब कैंटर से मिलेगी सफारी, जिप्सी...

रणथम्भौर में तत्काल बुकिंग करने वालों अब कैंटर से मिलेगी सफारी, जिप्सी के लिए इतना होगा चार्ज— News Online (www.googlecrack.com)

Ranthambore National Park: राजस्थान (Rajasthan) में आज शनिवार से नया पर्यटन सत्र शुरू हो गया है. ऐसे में रणथम्भौर नेशनल पार्क (Ranthambore National Park) में सफारी करने वाले पर्यटकों के लिए बड़ी खबर सामने आई है. अब करंट ऑनलाइन बुकिंग करवाने वाले पर्यटकों को केवल कैंटर से ही रणथंबोर पार्क में सफारी करवाई जाएगी. वन विभाग ने तत्काल ऑनलाइन बुकिंग के जिप्सी कोटे को अब एडवांस ऑनलाइन जिप्सी बुकिंग में शिफ्ट कर दिया है. ऐसे में पर्यटकों को तुरंत ऑनलाइन बुकिंग कराने पर जिप्सी का विकल्प नहीं मिलेगा.

व्यापारियों ने किया विरोध

वन विभाग के इस फैसले के बाद पर्यटन सेक्टर से जुड़े हुए व्यवसायियों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया है.  रणथम्भौर नेचर गाइड यूनियन के अध्यक्ष रफीक मोहम्मद का कहना है कि इस फैसले से रणथम्भौर में अचानक घूमने  आने वाले पर्यटकों को परेशानी होगी. रणथम्भौर के पर्यटन पर इसका असर पड़ेगा. इतना ही नहीं रणथम्भौर की आय भी प्रभावित होगी. कोरोना के कारण रणथम्भौर में पर्यटन व्यवसाय की काफी कमजोर स्थिति हो गई है. उन्होंने इस मामले में सीएम से हस्तक्षेप करने की मांग की है.

जिप्सी चाहिए तो 10 हजार देने होंगे

रणथंबोर नेशनल पार्क के डीसीएफ संदीप चौधरी ने बताया कि पिछले वर्ष तुरंत ऑनलाइन बुकिंग में हर जोन में जिप्सी की बुकिंग हो जाती थी। ऐसे में प्रति पारी 10 जिप्सी की बुकिंग करंट ऑनलाइन में उपलब्ध रहती थी. लेकिन अब विभाग की ओर से इसे बंद कर दिया गया है. नई व्यवस्था के तहत करंट ऑनलाइन में पर्यटकों के लिए जिप्सी का विकल्प अब केवल तत्काल कोटे के तहत ही उपलब्ध हो सकेगा. ऐसे पर्यटकों को निर्धारित शुल्क के अतिरिक्त 10 हजार रुपए का शुल्क भी देना होगा. यानी करंट ऑनलाइन बुकिंग के कराने पर पर्यटकों को अगर जिप्सी लेनी हो तो उसे 17 हजार से अधिक रुपए जमा कराने होंगे. जबकि पहले 7 रुपए हजार में ही जिप्सी उपलब्ध हो जाती थी.

Rajasthan News: कुंभलगढ़ में जंगल सफारी शुरू, 22 किमी लंबे इस ट्रैक पर पर्यटक देख पाएंगे वन्यजीव, जानें कितना होगा किराया

वीआईपी कोटा यथावत

हालांकि पहले की तरह वीआईपी पर्यटकों के कोटे को यथावत रखा गया है. ऐसे में इस पर्यटन सत्र में भी पांच जिप्सियों की बुकिंग करंट ऑनलाइन प्रक्रिया से वीआईपी पर्यटकों के लिए की जा सकेगी. डीसीएफ संदीप चौधरी ने कहा कि नए पर्यटन सत्र में करंट ऑनलाइन बुकिंग में जिप्सी का कोटा खत्म किया गया है. अब करंट बुकिंग में केवल कैंटर से ही सफारी कराई जाएगी.

होटलों को दिया जा रहा नया लुक

होटल व्यवसाय एसोसिएशन के उपाध्यक्ष अभय माहेश्वरी ने बताया कि नए पर्यटन सत्र को देखते हुए होटल संचालकों की ओर से भी विशेष तैयारी की गई है. होटल संचालक देशी-विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने के होटलों को नया लुक देने में जुटे हुए है. ऐसे में इन दिनों रणथम्भौर रोड पर होटलों में मरम्मत का कार्य जोरोंपर किया जा रहा है. नए पर्यटन सत्र को देखते हुए वर्तमान में रणथम्भौर रोड स्थित अधिक तर छोटे- बड़े होटलों में रंग-रोगन और मरम्मत का कार्य किया जा रहा है. ऐसे में वर्तमान में रणथम्भौर रोड स्थित होटलों में पांच सौ से अधिक लोगों को अस्थाई तौर पर रोजगार मिला है.

IIT, NIT Counselling 2022: कई स्टूडेंट्स की सीट कैंसिल, दूसरे राउंड की रिपोर्टिंग का अंतिम मौका आज

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments