Thursday, December 8, 2022
HomeTop Storiesविश्व फेफड़ा दिवस: क्या आपके फेफड़े हैं स्वस्थ? इन 5 बातों पर...

विश्व फेफड़ा दिवस: क्या आपके फेफड़े हैं स्वस्थ? इन 5 बातों पर करना होगा गौर— News Online (www.googlecrack.com)

World Lung Day: हर साल 25 सितंबर को दुनियाभर में विश्व फेफड़ा दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस दिन लोगों को फेफड़ों के स्वास्थ्य (Health Of Lung) के महत्व के बारे में जागरूक किया जाता है. फेफड़ों की स्थिति जैसे कैंसर, क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (सीओपीडी, तपेदिक (टीबी), अस्थमा और एलर्जिक राइनाइटिस भारत में तेजी से आम हो गए हैं, लेकिन यह सबसे खराब हिस्सा नहीं है.

भारत में फेफड़ों की बीमारियों के बारे में सबसे बुरी बात यह है कि इस सबका इलाज भी लोग नहीं करवाते हैं. धूम्रपान को फेफड़ों का एकमात्र दुश्मन माना जाता है. वास्तव में प्रदूषण, औद्योगिक गंद और अस्थमा जैसी पहले से मौजूद स्थितियों के खराब प्रबंधन से फेफड़ों का स्वास्थ्य खराब हो सकता है. हम आपको उन बातों के बारे में बताते हैं जिनसे फेफड़ों के स्वस्थ होने या ना होने को तय किया जाता है.

लगातार खांसी: अगर आप हर सुबह लगातार खांसी के साथ उठते हैं और आप नियमित धूम्रपान करने वाले हैं या कुछ समय पहले ही छोड़ चुके हैं तो यह फेफड़ों की बीमारी के लिए रेड फ्लैग हो सकता है. डॉक्टरों के अनुसार पुरानी खांसी फेफड़ों की बीमारियों जैसे कैंसर या सीओपीडी के लिए एक संभावित चेतावनी संकेत है.

सांस की तकलीफ: सीढ़ियां चढ़ते समय या जब आप ट्रेक के लिए जाते हैं, अगर आपको बहुत जल्दी या बहुत बार सांस लेने में तकलीफ होती है तो यह एक अंतर्निहित फेफड़ों की समस्या का संकेत भी हो सकता है. इससे जुड़ी स्थितियां हैं पल्मोनरी हाइपरटेंशन या लंग एरिया अस्थमा.

आवाज में बदलाव: कभी-कभी, ताकत की कमी के कारण फेफड़े एक मजबूत सांस छोड़ने की क्षमता खो सकते हैं. इसके परिणामस्वरूप आवाज में बदलाव हो सकता है. अगर आप देखते हैं कि आपकी आवाज अचानक बहुत नरम हो गई है तो यह वोकल कॉर्ड फंक्शन की समस्या के कारण हो सकता है जिसके कारण आवाज बदल जाती है.

लंबे समय तक सीने में दर्द: हालांकि सीने में दर्द आमतौर पर हृदय रोग से जुड़ा होता है, फेफड़ों के रोग अलग नहीं हो सकते हैं. अगर हंसने, खांसने या गहरी सांस लेने का अभ्यास करने पर दर्द बढ़ जाता है तो यह फेफड़ों के कैंसर का संकेत हो सकता है.

अत्यधिक बलगम उत्पादन: अमेरिकन लंग एसोसिएशन का कहना है कि जलन के संक्रमण से लड़ने के लिए वायुमार्ग द्वारा कफ का उत्पादन किया जाता है. हालांकि अगर यह छाती या गले में एक महीने से अधिक समय तक बैठता है तो इसका मतलब यह हो सकता है कि फेफड़े परेशानी में हैं और बीमारी के खतरे का संकेत दे सकते हैं.

Disclamer: लेख में बताए गए सुझाव केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए. कोई भी फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने या अपने आहार में कोई भी बदलाव करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर या आहार विशेषज्ञ से सलाह लें.

ये भी पढ़ें- Rainfall: देश से विदेश तक आसमानी आफत, उत्तराखंड-यूपी समेत कई राज्यों में अलर्ट, कनाडा में आया तबाही का तूफान

ये भी पढ़ें- Ghulam Nabi Azad: तीन दिवसीय श्रीनगर दौरे पर पहुंचे गुलाम नबी आजाद, नई पार्टी बनाने को लेकर दिया ये जवाब

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments