Friday, February 3, 2023
HomeTop StoriesNavratri Navami 2022: महानवमी पर शनि की कृपा पाने का बन रहा...

Navratri Navami 2022: महानवमी पर शनि की कृपा पाने का बन रहा है विशेष संयोग, इस दिन बस इस एक मंत— News Online (www.googlecrack.com)

Navratri 2022, Navratri Navami 2022, Shani Dev: शनि देव किसी की जिंदगी में यदि अधिक परेशानी पैदा कर रहे हैं तो उनके लिए 4 अक्टूबर 2022, मंगलवार का दिन विशेष है. इस दिन शारदीय नवरात्रि की महानवमी है. इस दिन का विशेष धार्मिक महत्व बताया गया है. महानवमी के पुण्य के बारे में पौराणिक ग्रंथों में भी विस्तार से वर्णन किया गया है. इस दिन जो लोग शनि की महादशा, साढ़े साती और ढैय्या के चलते लगातर परेशान उठा रहे हैं उनके लिए ये दिन बहुत ही शुभ होने जा रहा है. 

नवमी कब है? (Navami Date 2022)
पंचांग के अनुसार शारदीय नवरात्रि की नवमी तिथि 3 अक्टूबर 2022 को शाम 4 बजकर 37 मिनट से प्रारंभ होगी. नवमी तिथि का समापन 4 अक्टूबर 2022 को दोपहर 2 बजकर 20 मिनट पर होगा. मान्यता के अनुसार नवरात्रि की नवमी का व्रत 4 अक्टूबर 2022 को रखा जाएगा. मंगलवार और शनिवार का दिन शनि देव की पूजा के लिए शुभ माना गया है. मंगलवार के दिन महानवमी का पर्व पड़ने से इस दिन शनि देव को प्रसन्न करने का शुभ संयोग बना है.

शनि इस समय किन राशियो पर हैं भारी? (Shani Calculator)
नवमी के दिन शनि की पूजा का उत्तम संयोग बना है. इस समय शनि से 5 राशियां प्रभावित है. ये राशियां हैं-
मिथुन राशि (Gemini)
तुला राशि (Libra)
धनु राशि (Sagittarius)
मकर राशि (Capricorn)
कुंभ राशि (Aquarius)

साढ़े साती किन राशियों पर है? (Shani Sade Sati and Dhaiya)
वर्तमान समय में शनि की साढ़े साती धनु, मकर और कुंभ राशि पर चल रही है, वहीं मिथुन और तुला राशि पर शनि की ढैय्या चल रही है. इसलिए इन राशियों के लिए ये समय कष्टकारी माना जा रहा है. इसके साथ ही जिन लोगों की कुंडली में शनि अशुभ या कमजोर स्थिति में विराजमान हैं वे भी नवमी के दिन ये उपाय कर सकते हैं.

नवमी के दिन इस मंत्र का करें जाप (Navarna Mantra Om Aim Hreem Kleem)
”ऊं ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डाऐ विच्चे” इस मंत्र नवार्ण मंत्र कहा गया है. ये एक शक्तिशाली मंत्र है. इस मंत्र के बारे में कहा जाता है कि इसके हर अक्षर से, शक्ति की देवी और ग्रहों का सीधा संबंध है. इस मंत्र के तीन देवता ब्रह्मा, विष्णु और महेश बताए गए हैं और इसकी तीन देवियां महाकाली, महालक्ष्मी तथा महासरस्वती हैं. ये मंत्र मां दुर्गा की यह नौ शक्तियां धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष इन चारों पुरुषार्थों की प्राप्ति में भी सहायक बताया गया है. ग्रहों का संबंध होने से इस मंत्र का जाप शनि की कृपा दिलाने में सहायक है. इसलिए इस दिन एक माला का जाप कम से कम तीन बार अवश्य करें.

इस दिन इन कार्यों से बचें 
नवमी के दिन कुछ कार्यों से बचना चाहिए. इस दिन क्रोध, अहंकार, निंदा रस, वाद विवाद, अनावश्यक तर्क-वितर्क नहीं करना चाहिए.

October Horoscope 2022: अक्टूबर महीने का सभी राशियों का जानें मासिक राशिफल

Weekly Horoscope 3 to 9 October 2022: मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, सिंह और कन्या राशि वाले न करें ये काम, जानें साप्ताहिक राशिफल

Weekly Horoscope: तुला, वृश्चिक, धनु, मकर, कुंभ और मीन राशि वालों को इस हफ्ते इन बातों का रखना होगा ध्यान, जानें साप्ताहिक राशिफल

Disclaimer : यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments