Tuesday, November 29, 2022
HomeTop StoriesPK का लालू परिवार पर निशाना, तेजस्वी 9वीं फेल और उपमुख्यमंत्री, आपका...

PK का लालू परिवार पर निशाना, तेजस्वी 9वीं फेल और उपमुख्यमंत्री, आपका बच्चा चपरासी भी बनेगा?— News Online (www.googlecrack.com)

पटना: चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) दो अक्टूबर से जन सुराज पदयात्रा (Jan Suraj Padyatra) पर हैं. यात्रा के दौरान वो लगातार बिहार की मौजूद व्यवस्था पर बात कर रहे हैं. शिक्षा और रोजगार को लेकर लगातार वो लोगों तक अपनी बात पहुंचा रहे हैं. लोगों से मिल रहे हैं. इस दौरान कई बार उन्होंने सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर भी हमला बोला. अब प्रशांत किशोर का एक और बयान आया है जिसमें वे लालू परिवार (Lalu Family) पर हमला कर कर रहे हैं और उसके माध्यम से अपनी बात लोगों से कह रहे हैं.

पद यात्रा के दौरान शुक्रवार को पश्चिम चंपारण के धनौजी में स्थानीय लोगों से प्रशांत किशोर ने भोजपुरी में कहा- “हमार लईका के खाना के खियाई? हमार स्कूल में गांव के बनवाई? मान लीं कि लालू जी के लइका नौवां पास बा त उ बनता मुख्यमंत्री, राउर लइका नौवां पास रही त ओकरा चपरासियो के नोकरी मिली? जेकर बाबूजी मुख्यमंत्री बारन, विधायक बारन, मंत्री बारन उनकर लइका नौवां पास भी रही त नौकरी मिल जाई आउर हमनी के ऊ राजा बनके रही.”

यह भी पढ़ें- Nagar Nikay Chunav: रेणु देवी बोलीं- सरकार बनाने के लिए विधानसभा खुल सकता है, अतिपिछड़ों के लिए नीतीश चुप क्यों?

नीतीश कुमार पर भी कर चुके हैं हमला

बता दें कि पदयात्रा के दौरान प्रशांत किशोर लगातार नीतीश कुमार को लेकर भी हमला कर चुके हैं. हाल ही में उन्होंने कई बयान दिए थे. यात्रा के तीसरे दिन मंगलवार को पश्चिम चंपारण के जमुनिया गांव में प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार और ललन सिंह पर जमकर हमला बोला था. प्रशांत किशोर ने कहा था कि लोग समझ रहे हैं कि हमें धकिया देंगे, हमने तो बड़े-बड़े लोगों के नाक में दम किया है. आगे उन्होंने कहा था कि 2014 में चुनाव हारने के बाद नीतीश कुमार ने दिल्ली आकर कहा था कि हमारी मदद कीजिए. 2015 में हम लोगों ने उनको जिताने में कंधा लगा दिया था. वहीं अभी कुछ 10 से 15 दिन पहले उन्होंने मुलाकात के लिए बुलाया और साथ काम करने का प्रस्ताव दिया. उन्होंने सीधे मना कर दिया और कहा कि ये सब अब उनसे नहीं होगा.

प्रशांत किशोर ने कहा कि एक बार जो लोगों को वादा कर दिया है कि 3500 किमी चलकर गांव-गांव में जाकर लोगों को जगाना है, वही करेंगे. कहा कि हम डॉक्टर के लड़के हैं मेहनत से अपनी बुद्धि से दस साल काम किए हैं. हमने ठेकेदारों से पैसे नहीं लिए और न ही दलाली की है. हमने केवल बिहार में बदलाव के लिए फीस ली है.

यह भी पढ़ें- Gopalganj Flood: नेपाल में बारिश से गंडक नदी में उफनाई, 43 गांवों में मंडराया बाढ़ का खतरा, डीएम ने जारी किया अलर्ट

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments