Tuesday, November 29, 2022
HomeWorld Newsअगवा किए गए मंत्री को आतंकवादियों ने किया रिहा, मांगें पूरी करने...

अगवा किए गए मंत्री को आतंकवादियों ने किया रिहा, मांगें पूरी करने के लिए 10 दिन का दिया वक्त— News Online (www.googlecrack.com)

Pakistan Minister Kidnapping: पाकिस्तान के गिलगित-बाल्टिस्तान (Gilgit-Baltistan) के मंत्री अब्दुल्ला बेग (Ubaidullah Baig) को शनिवार (8 अक्टूबर) को आतंकवादियों ने रिहा कर दिया है. अब्दुल्ला बेग का शुक्रवार (7 अक्टूबर) को आतंकवादियों (Terrorist) ने अपहरण कर लिया था. जिन्हें बातचीत के बाद रिहा किया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आतंकवादियों ने अपनी मांगों को पूरा करने के लिए सरकार को 10 दिन का वक्त दिया है. 
 
दरअसल, पाकिस्तान की जेल में बंद अपने साथियों की रिहाई की मांग कर रहे आतंकवादियों ने शुक्रवार को अशांत प्रांत खैबर पख्तूनख्वा को गिलगित-बाल्टिस्तान से जोड़ने वाले एक मुख्य मार्ग को अवरुद्ध कर दिया था. साथ ही वरिष्ठ मंत्री अब्दुल्ला बेग और कई पर्यटक को बीच रास्ते में अगवा कर लिया था. 

शुक्रवार को किया था अपहरण

सोशल मीडिया पर शुक्रवार को साझा किये गये एक ‘ऑडियो क्लिप’ में गिलगित-बाल्टिस्तान के वरिष्ठ मंत्री अब्दुल्ला बेग को कथित तौर पर यह कहते हुए सुना जा सकता है कि इस्लामाबाद से गिलगित की तरफ जाते समय उन्होंने पाया कि आतंकवादियों ने अपने साथियों को जेल से रिहा कराने के लिए अधिकारियों पर दबाव बनाने के उद्देश्य से सड़क को अवरूद्ध कर रखा है.

वित्त, उद्योग, वाणिज्य और श्रम मंत्रालय के प्रभारी मंत्री अबदुल्ला बेग द्वारा जारी किए गए एक वीडियो में दिखाया गया है कि आतंकवादियों की रिहाई की पुष्टि के बाद उन सभी को कैद से जाने दिया गया. ‘डॉन’ अखबार ने सूत्रों के हवाले से कहा कि गिलगित के कुख्यात आतंकवादी हबीबुर रहमान के साथियों ने शुक्रवार को शाम चार बजे डायमेर स्थित चिलास के ठाक गांव में सड़क को अवरूद्ध किया, जिससे दोनों तरफ के पर्यटक बीच रास्ते में फंस गए. 

क्या हैं आतंकवादियों की मांगें?

आतंकियों ने अपने साथियों की रिहाई की मांग की है, जिसमें नंगा पर्वत क्षेत्र में विदेशियों की निर्मम हत्या करने और डायमेर में अन्य आतंकवादी घटनाओं में संलिप्त लोग शामिल हैं. आतंकवादियों ने प्रांत में इस्लामी कानून लागू करने की मांग की है, जिसमें महिलाओं को खेल-कूद की गतिविधियों में हिस्सा लेने की अनुमति नहीं हो. मीडिया पोर्टल मिनट मिरर ने सूत्रों का हवाला देते हुए कहा कि विधायी ढांचे के भीतर उग्रवादियों की मांगों पर चर्चा की जाएगी. घटना के बाद गिलगित जाने वाले रास्तों को साफ कर दिया गया है और फंसे हुए वाहनों को आगे जाने की अनुमति दी गई है. 

आतंकी गतिविधियों को लेकर सांसदों ने किया आगाह

पाकिस्तान (Pakistan) के सांसदों ने प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) की बढ़ती आतंकी गतिविधियों के बारे में शुक्रवार को आगाह किया था, जबकि एक सांसद ने हाल में गृह मंत्रालय द्वारा प्रतिबंधित संगठन द्वारा किए जाने वाले आतंकवादी हमलों के बढ़ते खतरे के सिलसिले में जानकारी मांगी थी. पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सांसद रजा रब्बानी ने सार्वजनिक चिंता के मुद्दे पर सीनेट के अध्यक्ष सादिक संजरानी से कहा कि वह गृह मंत्री को टीटीपी के साथ शांति वार्ता की वर्तमान स्थिति के बारे में संसद और जनता को बड़े पैमाने पर विश्वास में लेने का निर्देश दें. गृह मंत्रालय ने हाल में टीटीपी के साथ बातचीत रूक जाने या उसके गुटों द्वारा आतंकवादी हमलों के बढ़ते खतरे को लेकर आगाह किया था. 

ये भी पढ़ें- 

Ireland Explosion: आयरलैंड के सर्विस स्टेशन में विस्फोट, 7 की मौत, कई लापता

पकिस्तान की बाढ़ ने तोड़ी अर्थव्यवस्था की कमर! विश्व बैंक ने कहा- श्रीलंका जैसे हो सकते हैं हालात

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments