Tuesday, December 6, 2022
HomeWorld Newsएलिज़ाबेथ II का अंतिम संस्कार, जानिए कौन-कौन से ताकतवर राष्ट्राध्यक्षों को नहीं...

एलिज़ाबेथ II का अंतिम संस्कार, जानिए कौन-कौन से ताकतवर राष्ट्राध्यक्षों को नहीं दिया गया न्यौता— News Online (www.googlecrack.com)

Queen Elizabeth II’s Funeral: ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को आखिरी विदाई 19 सितंबर सोमवार को दी जाएगी, उन्हें इस दिन दफनाया जाएगा. ब्रिटेन की राजशाही में दशकों बाद ये ऐसा मौका है,जब बेहद बड़ी तादाद में दुनिया के शाही परिवारों के साथ ही अहम राष्ट्रध्यक्ष इस देश में जुटने वाले हैं. शाही परिवार की तरफ से महारानी के अंतिम संस्कार (Queen Elizabeth II’s Funeral) में शामिल होने के लिए 500 लोगों को निमंत्रण भेजा गया है, लेकिन दुनिया के कुछ ताकतवर राष्ट्रध्यक्षों को इस शाही गमी के मौके पर बुलाने की जरूरत नहीं समझी गई हैं. इसके पीछे भी वजहें हैं. जो भी हो ब्रिटेन के शाही परिवार ने ऐसा कर दुनिया को अपना रुतबा दिखा डाला है.

रूसी राष्ट्रपति को नहीं भेजा गया बुलावा

ब्रिटेन की महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में रूस के राष्ट्रपति  व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) को न्यौता नहीं भेजा गया है. इसके पीछे की वजह है रूस का यूक्रेन पर हमला किया जाना. यूक्रेन पर हमले के बाद ब्रिटेन और रूस के रिश्तों में तल्खी आई है. इस वजह से रूस के साथ ब्रिटेन के कूटनीतिक रिश्ते खत्म हो गए हैं. हालांकि इस मामले में रूसी राष्ट्रपति के प्रवक्ता ने बीते सप्ताह ही इस मामले पर अपनी स्थिति साफ कर दी थी. रूसी राष्ट्रपति के प्रवक्ता ने कहा था कि पुतिन का महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में जाने का कोई विचार नहीं है. रूस के साथ ब्रिटेन ने बेलारूस (Belarus) को भी इस अहम मौके पर आमंत्रित नहीं किया है. इसके पीछे भी रूस-यूक्रेन की जंग ही मुद्दा है. दरअसल यूक्रेन पर जब हमला किया गया तो हमले की शुरुआत बेलारूस के इलाके से की गई. इस वजह से ब्रिटेन इस अहम मौके पर बेलारूस को भी दरकिनार कर रहा है. इसके साथ ही बेलारूस के राष्ट्रपति एलेक्ज़ेंडर लुकाशेंको (Aleksandr Lukashenko) रूसी राष्ट्रपति पुतिन के नजदीकी माने जाते हैं. 

म्यांमार भी है बाहर महारानी के अंतिम संस्कार से

ब्रिटेन की महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में आने के लिए म्यांमार (Myanmar) के किसी प्रतिनिधि को न्यौता नहीं भेजा गया है. इसकी वजह भी कूटनीतिक है. दरअसल म्यांमार में फ़रवरी 2021 में सेना ने यहां की सरकार का तख्ता पलट डाला था. इस सैन्य तख़्तापलट के बाद ब्रिटेन ने म्यांमार से किनारा करना शुरू कर दिया था. इसके बाद से ही ब्रिटेन ने इस देश में अपनी राजनीतिक मौजूदगी में कमी करनी शुरू कर दी थी.

ड्रैगन भी नहीं होगा शाही अंत्येष्टि में शामिल

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (China President Xi Jinping) के महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में शामिल होने को लेकर भी स्थिति साफ नहीं है. शी के 19 सितंबर को महारानी के दफनाने की रस्मों में वेस्टमिन्स्टर एबे पहुंचने पर भी कयास ही लगाए जा रहे हैं. सूत्रों की माने तो यह साफ नहीं है कि चीनी राष्ट्रपति को न्यौता भेजा गया है या नहीं, या फिर अगर उन्हें न्यौता भेजा जाए तो वो उसे मंजूर करेंगे या नहीं. इस वक्त चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग कोविड महामारी के बाद पहली बार चीन से बाहर के सफर पर हैं. शी बुधवार को अपनी राजकीय यात्रा पर निकल चुके हैं. कजाकिस्तान और क्रेमलिन के मुताबिक वो उज्बेकिस्तान के प्राचीन सिल्क रोड शहर समरकंद में शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के शिखर सम्मेलन में शिरकत करेंगे. वहां वह सबसे पहले रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन से मिलेंगे. अगर ये कहा जाए की रूस से चीन की नजदीकी भी ब्रिटेन के शाही परिवार की नजरों में खटकी हैं और उसी वजह से चीन के राष्ट्रपति के महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में शामिल होने को लेकर स्थिति साफ नहीं है. 

ये भी पढ़ेंः

महारानी एलिज़ाबेथ II का अंतिम संस्कार, जानिए- दुनिया की किन किन बड़ी शख्सियतों को दिया गया निमंत्रण

Queen Elizabeth-II Funeral: किस वक्त और कैसे होगा महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का अंतिम संस्कार? जानें सबकुछ

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments