Thursday, November 24, 2022
HomeWorld Newsचीन में लॉकडाउन के चलते लोगों के पास नहीं बचा खाना, सोशल...

चीन में लॉकडाउन के चलते लोगों के पास नहीं बचा खाना, सोशल मीडिया के जरिये मांग रहे मदद— News Online (www.googlecrack.com)

China Corona Lockdown: चीन (China) में कोरोना (Coronavirus) के कारण जिन इलाकों में लॉकडाउन (Corona Lockdown) लगा है, वहां के लोग भोजन-पानी समेत आवश्यक चीजों (Food and Essential Items) की कमी की शिकायत कर रहे हैं. चीन में कम से कम 30 क्षेत्रों में आंशिक या पूर्ण लॉकडाउन लगा है, जिसकी वजह से लाखों लोगों को घरों में रहने के लिए कहा गया है. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, पश्चिमी झिंजियांग (Western Xinjiang) के एक निवासी ने कहा, “15 दिन हो गए हैं, हमारे पास आटा, चावल और अंडे नहीं हैं. कुछ दिन पहले हमारे पास बच्चों के लिए दूध खत्म हो गया था.”

अक्टूबर में कम्यूनिस्ट पार्टी की कांग्रेस होनी है. यह पार्टी की पांच साल में होने वाली सबसे बड़ी बैठक होती है, जिसमें राष्ट्रपति को चुना जाता है. कहा जा रहा है कि अधिकारी इसी कांग्रेस की तैयारी में व्यस्त हैं. वहीं, शी जिनपिंग सरकार ने चीन में शून्य कोविड नीति लागू की है. इसलिए कम संख्या में भी कोरोना के मामले सामने आने के बाद, कई इलाके लॉकडाउन झेल रहे हैं. सोमवार को चीन में 949 कोरोना के नए मामले सामने आए. चीन की शून्य कोविड नीति को लेकर सवाल उठ रहे हैं.

सोशल मीडिया के जरिये मदद की गुहार

कजाकिस्तान की साथ सीमा से लगे झिंजियांग के इली कजाख स्वायत्त प्रान्त में एक सप्ताह के लॉकडाउन से ही लोग त्रस्त हो गए हैं. वे सोशल मीडिया के जरिये मदद मांग रहे हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि एक वीडियो पोस्ट में एक उइगर शख्स कहता दिख रहा है कि उसके तीन बच्चों ने तीन दिनों से खाना नहीं खाया है. वहीं, इली की राजधानी यिनिंग शहर में भोजन, दवा और सैनिटरी पैड के लिए 300 से ज्यादा तत्काल अनुरोधों वाला एक साझा ऑनलाइन दस्तावेज तैयार कर शेयर किया गया है. एक और शख्स ने कहा, ”चीजें खरीदने के लिए मेरे पास धन नहीं है. मेरी पत्नी गर्भवती है और हमारे दो बच्चे हैं. हमारे पास गैस खत्म हो गई है. मेरी पत्नी को मेडिकल चेकअप की जरूरत है.” इलाके में हान चीनी, कजाख और उइगर निवासियों की मिश्रित आबादी है. 

दक्षिण पश्चिमी गुइझोऊ प्रांत में बिना चेतावनी के ही पांच लाख लोगों को घरों में रहने के लिए कह दिया गया. द गार्जियन की रिपोर्ट के मुताबिक, इमारतों की लिफ्ट बंद कर दी गईं. अखबार ने चीन की माइक्रोब्लॉगिंग साइट वीबो के एक यूजर के हवाले से लिखा, ”हम सामान की ऑनलाइन खरीद भी नहीं कर सकते क्योंकि वे डिलीवर नहीं करते हैं और सुपरमार्केट बंद हैं. क्या सरकार हमसे जानवरों की तरह सलूक कर रही है और क्या वह चाहती हैं कि हम मर जाएं?”

दो करोड़ से ज्यादा लोग लॉकडाउन से प्रभावित

इस साल की शुरुआत में शंघाई में दो महीने प्रतिबंध लगे रहे थे. वर्तमान में लॉकडाउन झेल रही जगहों में सबसे बड़ा शहर चेंगदू है, जो कि सिचुआन प्रांत की राजधानी है. 2 करोड़ से ज्यादा लोगों को शहर से बाहर जाने-आने पर रोक लगा दी गई है. केवल कोविड निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट दिखाने पर ही लोगों को आवश्यक चीजें खरीदने के लिए घर से बाहर आने की छूट दी जा रही है. हाल में प्रांत में एक भीषण भूकंप आया था. इसकी दहशत से लोग घरों से बाहर निकल पड़े थे. वे बंद निकासों से निकलने की कोशिश करते देखे गए थे. अधिकारियों का कहना है कि पांच इलाकों में प्रतिबंध हटाने की योजना बनाई जा रही है.

ये भी पढ़ें

China: शासन न हो कभी खत्म इसकी शी जिनपिंग ने कर ली है डटकर तैयारी

Russia Ukraine War: युद्ध में बैकफुट पर रूस! यूक्रेन ने 24 घंटे में 20 गांवों को लिया वापस

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments