Wednesday, December 7, 2022
HomeWorld Newsब्रिटिश महारानी के ‘लाइंग-इन-स्टेट’ कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सकेगा चीनी प्रतिनिधिमंडल---...

ब्रिटिश महारानी के ‘लाइंग-इन-स्टेट’ कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सकेगा चीनी प्रतिनिधिमंडल— News Online (www.googlecrack.com)

Queen Elizabeth II Lying In State Program: ब्रिटेन (Britain) ने चीन (China) की सरकार के एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल (Chinese Delegation) को वेस्टमिंस्टर हॉल (Westminster Hall) में दिवंगत महारानी के ‘लाइंग-इन-स्टेट’ कार्यक्रम (Lying In State Program) में शामिल होने की अनुमति नहीं दी है. ब्रिटिश मीडिया की खबरों में यह जानकारी दी गई है. खबरों के अनुसार, ब्रिटिश संसद के निचले सदन हाउस ऑफ कॉमन्स (House of Commons) के अध्यक्ष सर लिंडसे हॉयल (Lindsay Hoyle) ने चीनी प्रतिनिधिमंडल को महारानी के ‘लाइंग-इन-स्टेट’ कार्यक्रम में शामिल होने की अनुमति देने से इनकार कर दिया. महारानी का राजकीय अंतिम संस्कार सोमवार, 19 सितंबर को वेस्टमिंस्टर एबे में किया जाएगा.

बीबीसी और पोलिटिको की खबरों के अनुसार, पांच ब्रिटिश सांसदों ने चीनी सरकार पर उइगुर मुस्लिम अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न का आरोप लगाया था. इससे नाराज चीन ने ब्रिटिश सांसदों पर प्रतिबंध लगाए थे, इस वजह से सर लिंडसे हॉयल ने चीन के प्रतिनिधिमंडल के अनुरोध को अस्वीकार कर दिया.

हाउस ऑफ कॉमन्स ने कहा कि उसने सुरक्षा मामलों पर कोई टिप्पणी नहीं की है. हालांकि, मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि चीन के प्रतिनिधिमंडल को अंतिम संस्कार में उपस्थित होने की अनुमति होगी लेकिन उसे संसद भवन के अंदर के कार्यक्रम के लिए अनुमति नहीं दी जाएगी.

ब्रिटेन-चीन संबंधों के  तनावपूर्ण होने की आशंका

वेस्टमिंस्टर हॉल संसदीय संपदा का हिस्सा है और यह हाउस ऑफ कॉमन्स और हाउस ऑफ लॉर्ड्स के अध्यक्षों के नियंत्रण में है. इस घटनाक्रम से ब्रिटेन-चीन संबंधों के और तनावपूर्ण होने की आशंका है.

खबरों के अनुसार, ब्रिटेन के विदेश, राष्ट्रमंडल और विकास कार्यालय ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को उस देश के राष्ट्राध्यक्ष के रूप में आमंत्रित किया है, जिसके साथ ब्रिटेन के राजनयिक संबंध हैं. माना जा रहा है कि जिनपिंग के स्थान पर चीनी प्रतिनिधिमंडल के साथ उपराष्ट्रपति वांग चिशान को भी भेजा जा सकता है.

क्या कहा ब्रिटिश सांसद ने

इससे पहले उन सांसदों ने चीनी राष्ट्रपति को अंतिम संस्कार कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किए जाने पर आपत्ति जताई थी, जिनके खिलाफ चीन ने प्रतिबंध लगाए हैं. इन सांसदों में से एक टिम लॉटन ने कहा कि आप एक ऐसे देश के साथ सामान्य संबंध नहीं रख सकते जो पिछले 60-70 वर्षों से तिब्बत के अलावा उइगर लोगों का उत्पीड़न कर रहा है. उन्होंने इस क्रम में हॉन्गकॉन्ग का भी जिक्र किया.

चीन द्वारा प्रतिबंधित सांसदों ने इस सप्ताह की शुरुआत में संसद के दोनों सदनों के अध्यक्षों को पत्र भेजकर आश्वासन मांगा था कि चीनी प्रतिनिधियों को संसदीय संपदा में आने की अनुमति नहीं दी जाएगी. इस बीच, डाउनिंग स्ट्रीट ने कहा है कि यह परंपरा रही है कि जिन देशों के साथ ब्रिटेन के राजनयिक संबंध हैं, उन्हें राजकीय अंत्येष्टि के लिए आमंत्रित किया जाता है. यूक्रेन युद्ध को लेकर रूस, बेलारूस और म्यांमा को आमंत्रित नहीं किया गया है.

ये भी पढ़ें

China: चांग्शा शहर में 42 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, बचाव कार्य जारी, देखें वीडियो

US Mid Term Elections: चुनाव आते ही दिखा ट्रंप का हिंदी प्रेम, लगाया ‘भारत और अमेरिका सबसे अच्छे दोस्त’ का नारा

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments